आकृति मिश्रा जीवन परिचय | Aakriti Mishra Biography In Hindi
Headlines
Loading...
आकृति मिश्रा जीवन परिचय | Aakriti Mishra Biography In Hindi

आकृति मिश्रा जीवन परिचय | Aakriti Mishra Biography In Hindi

 "कहते है ना की किसी पास कोई हुनर है तो वह किसी की मोहताज नहीं होती"  और जुनून और जज्बा भी हो तो फिर दुनियां की कोई भी ताक़त उन्हे नहीं रोक सकती! 

आज राजस्थान में बहुत सारे ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने अपनी पहचान  अपने हुनर के दम पर बनाई है  इसमें एक नाम जो आजकल बहुत ज्यादा सुना जा रहा है वो आकृति मिश्रा का है,  आकृति मिश्रा ने बहुत ही कम उम्र में अपनी आवाज से संगीत के क्षेत्र में एक नया मुकाम हासिल किया है इन्होंने अपने भजनों के माध्यम से लोगों के दिलों में अपनी एक अलग ही  जगह बनाई है।

सही कहा जाता है कि “पहचान किसी उम्र की मोहताज नहीं होती” जिस तरीके से बहुत ही कम उम्र में संगीत के क्षेत्र मे  सफलता हासिल की है


आकृति मिश्रा का जन्म 2004 में भीलवाड़ा, राजस्थान में हुआ था। आकृति मिश्रा के पैतृक निवास स्थान की बात करे तो उनके पैतृक गांव का नाम पीपली है जो की राजस्थान के झुंझुनू जिले मे है। आकृति मिश्रा के जन्म से पहले ही उनके दादाजी पीपली गांव से भीलवाड़ा आ गए थे,और तभी से उनका परिवार भीलवाड़ा में ही रहता है।


आकृति मिश्रा ने अपने स्कूल की पढ़ाई भीलवाड़ा में पूरी की है और वर्तमान में वे कॉलेज में द्वितीय वर्ष की पढ़ाई कर रही है। आकृति संगीत के साथ-साथ पढ़ाई में भी बहुत अच्छी है।

आकृति मिश्रा ने भी बचपन से ही अपने पिताजी से संगीत के बारे में शिक्षा हासिल की और आज यह बड़े-बड़े मंच पर अपने कार्यक्रम प्रस्तुत करते हैं जिसमें लाखों की संख्या में लोग इनके कार्यक्रम देखने के लिए आते हैं आकृति मिश्रा एक प्रसिद्ध गायक कलाकार के रूप में पूरे राजस्थान में नहीं अपितु पूरे भारत में अपनी पहचान बना चुके हैं। 


 आकृति मिश्रा के भजन बहुत ही अच्छे होते हैं जिनको लोग सुनना पसंद करते हैं।  


आकृति मिश्रा को पूरे भारत में जगह जगह पर कार्यक्रम करने के लिए बुलाया जाता है और यह पूरे भारत में अपने भजनों के माध्यम से लोगों के दिलों में अपनी पहचान बना रहे हैं आकृति मिश्रा, क्योंकि उनकी आवाज में जो जादू है अन्य किसी कलाकार में नहीं है। 


आकृति मिश्रा के  कैरियर की शुरुआत बचपन से ही हो गई है क्योंकि अभी इनकी उम्र मात्र 18 साल की है और इतनी छोटी उम्र में भी उन्होंने अपने जुनून के बदौलत संगीत के क्षेत्र में लोगों के दिलों पर राज किया है लोग इनके  भजनों के दीवाने हैं।

उनके द्वारा गाया गया तेजाजी महराज का भजन ” लीलण प्यारी ” लोगो में इतना पसंद किया जा रहा है की लोग उनके भजन को कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे वॉट्सएप्प, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर स्टेटस लगा रहे है।

  • नाम -  आकृति  मिश्रा 
  • जन्म स्थल - पीपली नवलगढ़ झुंझुनू 
  • पढ़ाई - BA 2nd year 
  • वर्त्तमान आवास - भीलवाड़ा 





1 टिप्पणी